351 views


 

Highlighting the significance of voting in the upcoming General elections in another rally at Gohpur, PM Modi asked his supporters to celbrate the grand festival of democracy and vote in large numbers to show their support for the inclusive model of development of the BJP-led NDA.The Assamese people well know how the Congress and its allies have decieved the people of Assam time and again for their selfish gains and not for strengthening national security or improving the lives of the people.North-East has witnessed record development under the NDA: PM Modi in Assam The choice in the upcoming elections is between a decisive government or a dynastic government: PM Modi People of Assam have been decieved many times by the Congress party and will never support these ‘Maha-milawati’ forces with their future: Prime Minister Modi

Amidst his electoral campaigning spree in the North-East, Prime Minister Modi adressed two huge rallies in Assam followed by a similar one in Arunachal Pradesh earlier today. 

Addressing the large crowd of workers and supporters in Dibrugarh, PM Modi said that the overwhelming support of the Assamese people made it possible for him to take bold reforms and decisions.So, they will never support such ‘Maha-milawati’ people in the future.” 

5 सालों में आप जिस मजबूती से मेरे साथ खड़े रहे हैं, मुझे आशीर्वाद देते रहे हैं, उसी का परिणाम है कि आज एक नए विश्वास के साथ यहां खड़ा हूं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

आज़ादी के इतने दशकों के बाद भी असम के 40 प्रतिशत घरों तक ही बिजली पहुंची थी, आज करीब-करीब हर घर तक बिजली पहुंच पाई है, तो इसका कारण आपका आशीर्वाद है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

आज़ादी के इतने दशकों के बाद भी असम के 40 प्रतिशत घरों तक ही बिजली पहुंची थी, आज करीब-करीब हर घर तक बिजली पहुंच पाई है, तो इसका कारण आपका आशीर्वाद है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

इतने वर्षों बाद भी असम के करीब 40 प्रतिशत घरों में ही गैस का कनेक्शन था, आज ये दायरा 85 प्रतिशत तक पहुंच पाया है, तो इसके पीछे भी आपका ही भरोसा है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम के 27 लाख परिवारों को अगर हर वर्ष 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज का भरोसा मिल पाया है तो ये भी आपके साथ के कारण संभव हो पाया है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम में लगभग 50 लाख मुद्रा लोन देकर, लाखों युवा साथियों को स्वरोज़गार से जोड़ पाया हूं, तो ये भी आपके विश्वास का परिणाम है।असम के 5 लाख से अधिक गरीब परिवारों को अपना पक्का घर दे पाया हूं तो इसके पीछे भी आपके विश्वास की ताकत है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

आप ने मुझपर विश्वास किया, मुझे इतना सम्मान दिया, इसी का परिणाम है कि आज असम के किसानों के लिए मैं कुछ सार्थक कर पाया हूं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

डिब्रुगढ़ और जोरहट सहित असम के करीब 24 लाख किसान परिवारों के खाते में हर वर्ष हज़ारों करोड़ रुपए जमा किए जा रहे हैं, ताकि उन्हें अपनी छोटी-छोटी ज़रूरतों के लिए किसी की चौखट पर ना जाना पड़े, कर्ज में ना डूबना पड़े: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम के लाखों श्रमिक साथियों, चौकीदारों, ड्राइविंग का काम करने वालों, घरों में सेवा करने वालों, खेतों और बगानों में काम करने वालों के लिए 60 वर्ष की आयु के बाद 3 हज़ार रुपए की नियमित पेंशन का प्रावधान भी आपके विश्वास के कारण मैं कर पाया हूं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

आप खुश हैं, हिन्दुस्तान खुश है लेकिन दो जगह लोग परेशान हैं।एक कांग्रेस का परिवार और दूसरा आतंकियों का घरबार। आप 11 अप्रैल को जब कमल के फूल के सामने बटन दबाएंगे तो, इन्हीं दो जगहों में सन्नाटा छाने वाला है: PM @narendramodi in Assam

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

भारत ने पहली बार आतंकियों के घर में घुसकर मारा, लेकिन कांग्रेस परेशान है।भारत के साथ पूरी दुनिया खड़ी हो गई, लेकिन कांग्रेस परेशान है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

भारत ने अंतरिक्ष में अपनी क्षमताओं को विस्तार दिया, लेकिन कांग्रेस परेशान है।भारत आज महाशक्तियों के साथ कदम मिला रहा है, लेकिन कांग्रेस परेशान है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

कांग्रेस ने ऐसी सरकार चलाई है, जिसने भारत जैसे विराट देश की पहचान एक पीड़ित देश की बना दी थी।अब आपको तय करना है, दमदार सरकार चाहिए या फिर दागदार सरकार।निर्णायक सरकार चाहिए या फिर सिर्फ नारे लगाने वाली, झूठे वायदे करने वाली सरकार चाहिए: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

भारत मज़बूत तभी हो सकता है, जब असम मजबूत होगा, नॉर्थ ईस्ट मजबूत होगा।यही प्रयास केंद्र और असम की एनडीए सरकार ने किया है, यहां के ये हमारे तमाम साथी कर रहे हैं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

उन लोगों को चौकीदार से तो नफरत है ही, चायवालों से भी ये तिलमिलाए हुए हैं।पहले मुझे लगता था कि सिर्फ ये एक चायवाला ही इनके निशाने पर है।लेकिन देशभर में घूमा तो पता चला कि असम हो या बंगाल चाय उगाने से लेकर बनाने तक, जो भी चाय से जुड़ा है उसकी तरफ ये देखना भी पसंद नहीं करते: PM

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

चायवालों का दर्द ये चायवाला ही समझ सकता है।इसी का परिणाम है कि दशकों के इंतजार के बाद, पहली बार यहां के चायवालों के बैंक खाते खुले।‘चाय जनजाति’ के लाखों परिवारों को दो किश्तों में 5 हजार रुपये की मदद दी गई: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

चाय बगान के 4 लाख परिवारों को मुफ्त में चावल और 2 रुपए किलो चीनी देने का फैसला भी NDA की सरकार ने ही किया है।चाय बगानों में काम कर रही प्रसूता माताओं को एक मुश्त 12 हजार रुपये दिए जा रहे हैं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

मैं आपको ये भी भरोसा दिलाता हूं कि ये सुविधाएं आपसे अब कोई छीन नहीं सकता।इसलिए किसी भी तरह के भ्रम में मत आइएगा।आपका ये चायवाला, आपके जीवन को आसान बनाने के लिए प्रतिबद्ध है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

नॉर्थ ईस्ट में नए भारत की नई ऊर्जा का केंद्र बनने की ताकत है।यही कारण है कि 5 वर्षों में यहां के दूर-दराज के इलाकों को आपस में जोड़ने के लिए, यहां के जीवन को सुगम बनाने के लिए व्यापक प्रयास किया गया है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

लटकाने और भटकाने में तो कांग्रेस को मास्टरी है।गैस क्रैकर प्रोजेक्ट, ढोला-सादिया पुल हो या फिर बोगीबील पुल, दशकों से लटके ऐसे अनेक काम आपके इस चौकीदार की सरकार ने ही पूरे कराए हैं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम के विकास के साथ-साथ यहां की पहचान, यहां की संस्कृति को सुरक्षित और संरक्षित करने के लिए हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।जिस असम अकॉर्ड को कांग्रेस ने लटकाए रखा, उसको लागू करने का हम पूरा प्रयास कर रहे हैं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

जो प्यार और विश्वास बीते 5 वर्षों में आपने मुझे दिया है वो मेरा सौभाग्य है। मैंने भी पूरी ईमानदारी के साथ, पूरी निष्ठा के साथ आपकी सेवा करने की कोशिश की है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम को, हिन्दुस्तान को घुसपैठियों से, आतंकियों से, मुक्त कराने का काम कौन कर सकता है? एक तरफ दमदार चौकीदार है और दूसरी तरफ महामिलावट वाले परिवार हैंएक तरफ असम हित और राष्ट्रहित का विचार है और दूसरी तरफ वोट के लिए किसी भी हद तक जाने वालों का कारोबार है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

बहुत से वीरों ने अपने बलिदान से असम को मजबूत किया है। इनकी प्रेरणा से बीते 5 वर्षों में घुसपैठियों और आतंकियों पर जिस तरह का नियंत्रण लगाया गया है, वैसे पहले कभी नहीं हुआ: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

लेकिन महामिलावट करने वालों के अतीत और वर्तमान को देखें तो इतना तय है कि अगर ये लोग मजबूत हुए, तो असम को फिर पुराने दौर में ले जाएंगे: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

बुजुर्ग लोग याद करें, युवा साथी बुज़ुर्गों से पता करें, कि कांग्रेस ने कैसे असम को हर बार ठगा है, धोखा दिया है, असम के लोगों के विश्वास को तोड़ा है।क्या ये सच नहीं है कि अगर सरदार पटेल ना होते, अगर श्रद्धेय गोपीनाथ बोरदोलोई ना होते तो असम की वो पहचान नहीं होती, जो आज है: PM

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

इनकी नीति तो ऐसी रही है कि तेज़पुर सहित देश का एक बड़ा हिस्सा सिर्फ और सिर्फ हमारे वीर सैनिकों और हमारे लोगों के हौसले के दम पर ही बच पाया।70 के दशक में घुसपैठ को रोकने के लिए तब की सरकार ने जिस तरह का काम किया उसका परिणाम तो असम और पूरा नॉर्थ ईस्ट भुगत ही रहा है: PM

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

ये जनसंघ ही था, अटल बिहारी वाजपेयी जैसे हमारे तमाम बड़े नेता ही थे, जिन्होंने बांग्लादेश की आज़ादी के समय हर मुद्दे, हर समस्या का समाधान करने के लिए आवाज़ उठाई थी। हमने राष्ट्रहित में बांग्लादेश की आज़ादी के लिए तब की सरकार के उठाए कदमों का समर्थन किया था: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

आज की स्थिति देखिए, आज भारत अपना दम दिखा रहा है, हमारे वीरजवान अपना दम दिखा रहे हैं। पुरानी नीति और रीति को भारत बदल रहा है। पूरी दुनिया भारत के साथ है, लेकिन महामिलावटी ही हिन्दुस्तान के साथ नहीं है।चौकीदार का विरोध करते-करते, भारत का विरोध करने लगे हैं: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

भारत का विरोध करने वालों का साथ असम देगा क्या? भारत का विरोध करने वाले असम का हित कर सकते हैं क्या? ऐसे लोग घुसपैठ की समस्या हल कर सकते हैं क्या? लड़ाई चाहे घुसपैठ और आतंकवाद से हो या फिर भ्रष्टाचारियों और दलालों के खिलाफ, आपका ये चौकीदार पूरी ताकत से डटा है: PM

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम और भारत का हित सिर्फ वही लोग कर सकते हैं जिनके दिल में असम बसता है, भारत बसता है: PM @narendramodi at Gohpur, Assam https://t.co/55cRJqOj1y

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

चाय के बगान में काम कर रहे कामगारों के लिए भी पूरी संवेदना के साथ काम किया जा रहा है। आने वाले समय में इसको और विस्तार दिया जाएगा: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

चाय बगान में काम करने वाले साथियों के लिए ही इस चौकीदार ने पीएम श्रमयोगी मानधन योजना बनाई है। इस योजना से जुड़े लोगों को 60 वर्ष की आयु के बाद हर महीने 3 हज़ार रुपए की नियमित पेंशन सुनिश्चित होगी: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

असम के हित और असम की अस्मिता की रक्षा ये चौकीदार ही कर सकता है। कांग्रेस की नीयत होती तो इतने वर्षों में वो तमाम समस्याओं का समाधान कर सकती थी। आपने तो यहां से प्रधानमंत्री तक दिया था: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

यहां की महान संतान लासित बोरफूकन ने एक बात कही थी। "देहोतकोइ मोमाइ डाँगर न होइ" मतलब ‘कोई भी मामा देश से बड़ा नहीं होता’। लेकिन कांग्रेस के लिए हर वो मामा देश हित से बड़ा है जो उनके स्वार्थ में उनका साथ देता है: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019

मिशेल मामा, क्वात्रोची मामा, ऐसे अनेक मामा हैं, जिनके लिए इन्होंने देश तक को दांव पर लगा दिया: PM @narendramodi

— narendramodi_in (@narendramodi_in) March 30, 2019 .The choice to the voters is between a government that puts the nation first or a government that puts family first.He added, “The choice in these elections is between a decisive government or a dynastic government.He explained that his government believes in taking everybody along and so every section of society had benefitted in one way or other during the last five years. 

Lashing out at the Opposition parties, particularly the Congress for their opportunism and decades of neglect towards the people, Prime Minister Modi asserted that the upcoming voting day will be a fine opportunity for the people to give a befitting reply to the petty politics of the Congress and its allies.He also remarked upon the lack of strong anti-terror responses from India during Congress rule as responsible for bringing a great nation as India down to the perception of a weak state in the world.
Source: https://www.narendramodi.in/pm-modi-addresses-public-meeting-at-moran-assam

Comments
No comments yet. Be first to leave one!